मुख्यमंत्री ने आश्रम फ्लाई ओवर विस्तार व अंडरपास योजना का शिलान्यास किया

नई दिल्ली। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली को बड़ा तोहफा दिया। उन्होंने आश्रम फ्लाई ओवर विस्तार व अंडरपास योजना का शिलान्यास किया। इस फ्लाई ओवर के बन जाने से नोएडा व गाजियाबाद के साथ दिल्ली के अन्य हिस्सों से दक्षिणी दिल्ली के लिए आने-जाने वाले लाखों लोगों को जाम से मुक्ति मिल सकेगी। योजना के तहत रिंग रोड पर आश्रम फ्लाई ओवर को डीएनडी फ्लाई ओवर तक विस्तार दिया जाएगा। छह लेन के इस फ्लाई ओवर में तीन लेन आश्रम से डीएनडी जाने के लिए होगी और तीन लेन डीएनडी से आश्रम आने के लिए बनाई जाएगी। इसके अलावा, आश्रम फ्लाई ओवर से सराय काले खां जाने के लिए तीन लेन का डाउन रैंप और आइटीओ व सराय काले खां से दक्षिणी दिल्ली जाने वाले वाहनों के लिए तीन लेन का अप रैंप डीएनडी लूप से इस फ्लाई ओवर के लिए बनाया जाएगा। करीब 128.25 कोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले इस फ्लाई ओवर का काम एक साल के अंदर पूरा कर लिया जाएगा।
अंगूरी मार्ग के किलोकरी चौक पर आश्रम फ्लाई ओवर विस्तार योजना के शिलान्यास कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आफिस आवर्स के दौरान आश्रम चैक पर प्रतिदिन भीषण जाम लगता है। यहां पर रोज लोगों को 30 से 45 मिनट तक रूकना पड़ता है। इसीलिए जनता की सुविधा और उन्हें जाम से मुक्ति दिलाने के लिए सरकार ने आश्रम फ्लाई ओवर विस्तार योजना बनाई है। आश्रम फ्लाई ओवर से डीएनडी तक सीधे एक फ्लाई ओवर बनाया जाएगा। इससे नोएडा से आने वाले लोगों को कोई रेड लाइट नहीं मिलेगी और वे लोग सीधे लाजपत नगर की तरफ जा पाएंगे। इसी तरह, लाजपत नगर की ओर से लोग नोएडा और सराय काले खां की तरफ जा सकेंगे। यह काफी लंबा फ्लाई ओवर होगा। इसलिए बीच में एक अंडरपास भी बनाया जाएगा। इस चौक के उपर रोजाना होने वाले ट्रैफिक जाम से लोगों को मुक्ति मिलेगी। पिछले पांच साल के अंदर हमारी सरकार ने पूरी दिल्ली में 24 फ्लाई ओवर बनाया है। हमारी कोशिश है कि जगह-जगह लगने वाले जाम से लोगों को मुक्ति मिले।
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली देश की राजधानी है। अपनी राजधानी के अंदर सबसे अच्छी सुविधा होनी चाहिए। सारी चीजें अच्छी होनी चाहिए। हमने स्कूल अच्छे कर दिए। अस्पताल अच्छे कर दिए। महिलाओं के लिए डीटीसी का किराया फ्री कर दिया। अब हमें पूरी दिल्ली का ट्रैफिक भी ठीक करना है। उसके लिए हमारी सरकार ने योजना बनाई है। हम पूरी दिल्ली में ट्रैफिक व्यवस्था की प्लानिंग करने की जिम्मेदारी एक एक एजेंसी को दे रहे हैं। वह एजेंसी पूरी दिल्ली के अंदर जहां-जहां पर प्रतिदिन ट्रैफिक जाम लगते है, उन सभी प्वाइंटों की लिस्ट बनाएगी। दिल्ली में सड़के बहुत चौड़ी हैं, लेकिन फिर भी ट्रैफिक जाम होता है। कहीं चार लेन की सड़क है। वह अचानक तीन लेन की हो जाती है और फिर अचानक वह छह लेन की हो जाती हैै। कई जगह सड़क का डिजाइन ठीक नहीं है। सड़क में कई जगह छोटे-छोटे बदलाव करने से ट्रैफिक जाम खत्म किए जा सकते हैं। इसलिए पूरी दिल्ली के ट्रैफिक जाम पर काम करने के लिए एजेंसी को जिम्मेदारी दी जा रही है। दिल्ली में जहां-जहां भी जाम लगता है, एजेंसी उसकी लिस्ट बना कर देगी। एजेंसी हमे बताएगी कि इस प्वांइट पर ट्रैफिक जाम को दूर करने के लिए क्या काम करना होगा। उसके बाद हम एजेंसी की प्लानिंग को लागू करेंगे। हमारी कोशिश रहेगी कि दिल्ली में ज्यादा से ज्यादा लोग जाम से मुक्ति दिला सकें। ट्रैफिक जाम जहां पर भी होता है, वहां लोगों का समय बर्बाद होता है। भारी मात्रा में पेटोल व डीजल फूंकता है और प्रदूषण बढ़ता है। अगर टै्रफिक जाम से लोगों को मुक्ति मिलेगी, तो उनका समय बचेगा। जहां अभी लोगों को जाने में एक घंटा का समय लगता है, वहां आधे घंटे में पहुंच जाएंगे। इसकी पूरी प्लानिंग हम लोग कर रहे हैं। हम लोगों ने पिछले पांच साल में खूब काम किए। दिल्ली के लोग काम से काफी खुश है। अब दिल्ली की विकास की गाड़ी 100 की स्पीड से चल पड़ी है। आने वाले चुनाव में अब इस गाड़ी को रूकने मत देना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »