20 जून तक निगम के सभी नालों की हो जाएगी पूरी सफाई : महापौर

नई दिल्ली। उत्तरी दिल्ली के महापौर जय प्रकाश, दक्षिणी दिल्ली की महापौर अनामिका मिथलेश और पूर्वी दिल्ली के महापौर निर्मल जैन ने आज प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए बताया कि दिल्ली की तीनों नगर निगम 20 जून से पहले सभी नालों से गाद निकालने का कार्य पूरा कर लेंगी।
महापौर जय प्रकाश ने बताया कि दिल्ली में मुख्यता पांच एजेंसियों के नाले हैं जिम में बड़े नाले दिल्ली सरकार के लोक निर्माण विभाग, डीएसआईडीसी, सिंचाई एवं बाढ़ नियंत्रण विभाग और दिल्ली जल बोर्ड के है। उन्होंने बताया कि दिल्ली के तीनों नगर निगमों के छोटे नालों की निकासी दिल्ली सरकार के इन विभागों के बड़े नालों में है। उन्होंने कहा कि यदि सभी एजेंसियां मिलकर मॉनसून से पहले कार्य करें तो दिल्ली को जल भराव की स्थिति से बचाया जा सकता है।
महापौर जयप्रकाश ने बताया कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम के अंतर्गत 192 बड़े नाले आते हैं जिनकी गहराई चार फीट तक है और जिनके लंबाई 112.25 किलोमीटर है। उन्होंने बताया कि इन नालों से गाद निकालने का कार्य लगभग पूरा हो चुका है। उन्होंने बताया कि गाद निकालने के कार्य में 555 नाला बेलदार, 16 सक्शन मशीन, 2 सुपर शकर मशीन और जेसीबी जैसे अत्याधुनिक मशीनों को को लगाया गया है। उन्होंने बताया कि इन नालों से 8312 मैट्रिक टन गाद निकाल कर भलस्वा लैंडफिल साइट पर भेजा गया है। उन्होंने बताया कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम के अंतर्गत 515 छोटे नाले आते हैं जिनकी लंबाई 492 किलोमीटर है। उन्होंने बताया कि इन नालों से गाद निकालने का कार्य चल रहा है उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग में अभी तक सिर्फ़ 124.34 मैट्रिक टन गाद ही निकाल कर भलस्वा लैंडफिल साइट्स पर भेजी है।
महापौर जयप्रकाश ने बताया कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने अपने क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले सभी रेल अंडर ब्रिज पर पंपिंग स्टेशन सही तरीक़े से कार्य कर रहे हैं। इसके साथ ही 127 छोटे पम्पों की व्यवस्था भी की गई है ताकि ज़रूरत पढऩे पर इनका उपयोग किया जा सके।
उन्होंने बताया कि निगम ने सभी विभागों को पत्र लिखकर अपने अपने क्षेत्रों में आने वाले नालों से गाद निकालने का अनुरोध किया है ताकि मॉनसून के समय दिल्ली में जल भराव की स्थिति उत्पन्न न हो और पानी और मच्छर जनित बीमारियां पैदा न हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »