केजरीवाल ने पानी की समस्या को हल नहीं किया तो आगामी विधानसभा चुनाव में जनता उन्हें जवाब देगी विजेन्द्र गुप्ता

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजेन्द्र गुप्ता एवं उत्तर-पश्चिमी दिल्ली के सांसद हंसराज हंस के नेतृत्व में नरेला स्थित दिल्ली जल बोर्ड के दफ्तर के सामने सैकड़ों स्थानीय नागरिकों व कार्यकर्ताओं ने क्षेत्र में बढ़ रही पानी की समस्या को लेकर केजरीवाल सरकार के खिलाफ मटका फोड़ प्रदर्शन करते हुये दिल्ली जल बोर्ड के चैयरमेन व मुख्यमंत्री केजरीवाल का पुतला फूंका। इस प्रदर्शन में जिला अध्यक्ष नीलदमन खत्री, नरेला जोन के चैयरमेन श्री सुनीत चैहान सहित भारी संख्या में स्थानीय नागरिक व कार्यकर्ता सम्मिलित हुये।
दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि क्षेत्र में पानी को लेकर होने वाली समस्या इतना विकराल रूप नहीं लेती यदि दिल्ली के मुख्यमंत्री पहले ही समर एक्शन प्लान बना लेते। केजरीवाल सरकार ने न तो कोई समर एक्शन प्लान ही बनाया और न ही पानी की समस्या पर आपूर्ति के लिए टैंकरों की कोई उचित व्यवस्था की है। दिल्ली जल बोर्ड इलाके में पानी की आपूर्ति करने में पूरी तरह से फेल हो गई है। पानी के लिए गली- गली में झगड़े आम हो चले है। जल संकट गहराता जा रहा है लेकिन मुख्यमंत्री चैन से सो रहे है। पानी को लेकर त्राहिमाम कर रही जनता की आवाज बनकर आज हम सभी यहां एकत्र होकर दिल्ली सरकार को अगाह करने आये है कि वो इस समस्या के निवारण के लिए जल्द कदम उठाये नहीं तो जनता इसका उचित जवाब विधानसभा चुनावों में जरूर देगी।
उपस्थित कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुये सांसद हंसराज हंस ने कहा कि दिल्ली को लंदन पेरिस बनाने वाली आम आदमी पार्टी ने पूरी दिल्ली के लिए कई बड़ी समस्याओं को जन्म दिया है। प्रदूषण के कारण न तो स्वच्छ वायु है और न ही क्षेत्र के लोगों को पानी मिल रहा है। भीषण गर्मी का प्रकोप लगातार बढ़ रहा है। पहले पानी के लिए लोगों को टैंकर का घण्टों इन्तजार करना पड़ता था, लेकिन अब हालत यह है कि टैंकर भी क्षेत्र में नहीं आ रहे है। माताओं, बहनों को पानी के लिए हर रोज संघर्ष करना पड़ रहा है। मुख्यमंत्री केजरीवाल दिल्ली की परेशान जनता को पानी नहीं दे सकते है तो उन्हें कुर्सी पर भी बने रहने का कोई हक नहीं है। केजरीवाल के दिल्ली जल बोर्ड के चैयरमेन होने के बावजूद दिल्ली में जनता को पानी की त्राहि-त्राहि है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »