एनडीएमसी  ने ” प्लास्टिक लाओ – मास्क पाओ ”  अभियान शुरू किया

नई दिल्ली। नई दिल्ली नगरपालिका परिषद (एनडीएमसी) द्वारा संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) के साथ साझेदारी में आज ” प्लास्टिक लाओ – मास्क पाओ ”  अभियान कनॉट प्लेस के चरखा संग्रहालय में शुरू किया गया । जहां नागरिक आकर मास्क लेने के बदले में अपना प्लास्टिक कचरा जमा कर सकते हैं।

इस अभियान का शुभारंभ आज दिल्ली के मुख्य सचिव विजय कुमार देव द्वारा नई दिल्ली नगरपालिका परिषद के अध्यक्ष धर्मेंद्र, सचिव डॉ बी.एम. मिश्रा और यूएनडीपी के प्रतिनिधि प्रभजोत सोढ़ी की उपस्थिति में  किया गया।

विजय देव ने इस अनूठी मुहिम के रूप में नई दिल्ली नगरपालिका परिषद (एनडीएमसी) की पहल की सराहना की और इसे कोविड उचित व्यवहार को प्रोत्साहित करने के साथ ही प्रदूषण पर अंकुश लगाने के लिए महत्वपूर्ण भी बताया । मुख्य सचिव ने आगे मास्क पहनने, हाथ की धुलाई और सामाजिक दूरी की आवश्यकता पर प्रकाश डाला और  जनता को कोविड  संक्रमण से बचाने के लिए इन उपायों को अपनाने को जरूरी बताया । उन्होंने विवाह समारोहों के आयोजन / समारोह में भाग लेने के दौरान सतर्क रहने पर जोर दिया।

इस अभियान का उद्देश्य कोविड -19 से बचने के लिए मास्क के उपयोग पर जोर देना है और उस बेकार कचरा प्लास्टिक के बदले उपयोगी उत्पादों में पुनर्प्राप्त करने और रीसायकल करने की आवश्यकता पर बल देना है। इस अभियान  का महत्व प्लास्टिक कचरे के पृथक्करण को प्रोत्साहित करके समाज को इस जिम्मेदारी की ओर बढ़ने के लिए उसकी भूमिका को रेखांकित करना भी है ।

इस अभियान के एक भाग के रूप में  प्लास्टिक के जिम्मेदार उपयोग और इसके निपटान को बढ़ावा देने के लिए चरखा संग्रहालय – कनॉट प्लेस के परिसर में एक संग्रह केंद्र स्थापित किया गया है। यहां से आगंतुकों को बेकार प्लास्टिक उत्पादों को लाने और उसके बदले कपड़े के मास्क के प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा । तथा साथ ही इसके लिए जिम्मेदार नागरिक बनने के लिए प्रतिज्ञा ( प्रतिज्ञा 4 परिवर्तन) भी लेने के लिये उनको प्रेरित किया जाएगा ।

इस मिनी कलेक्शन सेंटर में स्कूल, कॉलेजों और छात्रों की भागीदारी सहित सामुदायिक गतिविधियों की पूरी श्रृंखला के साथ इसे दिन के 11:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक खोला जाएगा।

इस अभियान का लक्ष्य हमारी सड़कों , गलियों और लेन से लगभग 5 टन प्लास्टिक कचरे के एकत्रीकरण को सुनिश्चित करना है, जिसे सुरक्षित रूप से बेहतर आर्थिक और सामाजिक परिणामों के साथ जिम्मेदारी से पुनर्चक्रण करके दिल्ली के लिए बेहतर पर्यावरणीय परिणामों के रूप में लाया जा सकें ।

इस अवसर पर नुक्कड़ नाटक टीम द्वारा  व्यवहार परिवर्तन पर एक नुक्कड़ नाटक भी प्रदर्शित किया गया, इसके बाद गणमान्य अतिथियों से सफाई सेवकों  और कचरा इकठ्ठा करने वालों को प्लास्टिक कचरे के बदले मास्क वितरित किये गए ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »