आईपेक्स भवन वेलफेयर सोसायटी द्वारा 110वीं मासिक काव्य परंपरा गोष्ठी का आयोजन

नई दिल्ली। आईपेक्स भवन वेलफेयर सोसायटी द्वारा 110वीं प्रतिष्ठित मासिक काव्य परंपरा गोष्ठी किया गया।
चुटकुला रहित, समयबद्ध और पूर्णतया कविताओं के समर्पित इस गोष्ठी को इस बार गणतंत्र दिवस को समर्पित किया गया। इस बार की गोष्ठी में भारतीय सेना के पूर्व सैनिक व वर्तमान में ओज के प्रख्यात कवि नरेश ‘निर्भीक’ (कोटा, राजस्थान) और युवा कवि डॉ. अंशुल जैन ‘नभ’ (भोपाल, मध्य प्रदेश) को आमंत्रित किया गया। गोष्ठी के प्रारंभ में प्रख्यात समाजसेवी संस्था के महामंत्री सुशील गोयल ने सभी आमंत्रित कवियों का स्वागत किया।
कार्यक्रम का प्रारम्भ आईपी एक्सटेंशन निवासी कवि राजेश अग्रवाल ने माँ भर्ती की वंदना से किया। वंदना का एक अंश –
सागर की लहरें नित-नित हैं तेरे चरण पखारती,
जय भारत :जय भारती, जय भारत : जय भारती।
डरना क्या है किसी से जब है रक्षक स्वयं हिमाला,
हर दिल है ममता की मूरत हर घर यहाँ शिवाला,
रामायण ने हम सबको है प्रेम का सबक सिखाया,
गीता ने हर युग में हमको सच्चा मार्ग दिखाया,
स्वयं कृष्ण इस कर्म भूमि पर बन कर आए सारथी,
जय भारत : जय भारती, जय भारत : जय भारती।
सदन में उपस्थित सभी श्रोताओं ने समवेत स्वर में माँ भारती की वंदना में सहभागिता की।
भोपाल से आए युवा कवि डॉ. अंशुल जैन ‘नभ’ ने आध्यात्मिक शृंगार, संजीदा गजलें और राष्ट्रवाद से ओतप्रोत अपनी रचनाओं से पूरे सदन का दिल जीत लिया। उनके परिचय की एक बानगी देखिये-
कल्पना की धाराएं यूं ही नहीं बहती है,
सोंच की परिधियों को व्योम किया जाता है,
यूं ही बनते हैं कविता के धवल चित्र,
शब्द.शब्द को अंशुल ओम किया जाता है।
भगवान बुद्ध को समर्पित उनकी रचना विशेष ने सभी का ध्यान आकर्षित किया। पूर्व सैनिक व वर्तमान में ओज के प्रख्यात कवि नरेश ‘निर्भीकÓ ने तो अपनी रचनाओं में मानो एक सैनिक को पूरा जीवन ही जी लिया। भारत माता की जय और तालियों से गुंजित माहौल में उनके तेवर की कुछ झलकियां –
भारत की धरती पर यदि तू परमाणु बम फेंकेगा।
पूरा पाकिस्तान सुबह का सूरज कभी न देखेगा।।
सैनिक वो होता है जो हम सब की खातिर जीता है।
हम पीते हैं बिसलेरी वो हिम पिघलाकर पीता है।।
वतन की खातिर जो पीढ़ी कुर्बानी से डर जाती है।
उसकी आजादी भी उसके जीते जी मर जाती है।।
चीन की आंखों में आंखे अब डाल के ये कहना होगा।
बासठ वाला नहीं है भारत अब हद में रहना होगा।।
गोष्टी का सफल संचालन आईपी एक्सटेंशन निवासी कवि राजेश अग्रवाल ने किया। आज की सफल गोष्ठी में कई वरिष्ठ कवि व साहित्यकारआदि भी उपस्थित थे। प्रख्यात समाजसेवी संस्था के महामंत्री सुरेश बिंदल ने गोष्ठी के उपरांत कवियों को श्रेष्ठ काव्य पाठ हेतु बधाई दी। गोष्ठी के अंत में संस्था के चेयरमैन शुशील गोयल ने धन्यवाद ज्ञापन किया। राष्ट्र वंदना के साथ गोष्ठी का समापन हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »