कूड़ा उठवाने के लिए चुकानी होगी ‘यूजर फी’ : एनडीएमसी

नई दिल्ली। जल्द ही दिल्लीवासियों को कूड़ा उठवाने के लिए पैसे देने पड़ सकते हैं। नकदी की तंगी झेल रहे नॉर्थ दिल्ली म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन ने अब एक नई योजना बनाई है। फरवरी से ही एनडीएमसी कूड़ा उठवाने के लिए पैसे लेना शुरू कर सकता है।
एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पैम्फलेट और रसीदें छापी जा रही हैं। इस योजना की शुरुआत फरवरी के आखिरी सप्ताह से ही लागू हो सकती है। सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट रूल्स (2016) के मुताबिक, स्थानीय निकाय को यूजर फी पर फैसला लेने का अधिकार है। अधिकारी ने आगे बताया कि निकट भविष्य में दूसरे कॉर्पोरेशंस इस फीस को खत्म भी कर सकते हैं।
गौरतलब है कि रेजिडेंशल प्रॉपर्टीज के लिए यूजर फीस 50 रुपये से 200 रुपये प्रतिमाह के बीच हो सकती है। एक दूसरे अधिकारी ने बताया, 50 वर्ग मीटर तक के प्लॉट के लिए प्रस्तावित शुल्क 50 रुपये के आसपास है। वहीं 50 से 200 वर्ग मीटर के बीच रेजिडेंशल प्रॉपर्टी के लिए चार्ज 100 रुपये प्रतिमाह होगी। 200 वर्ग मीटर से ज्यादा के सभी रेजिडेंशल प्रॉपर्टी के लिए 200 रुपये शुल्क देना होगा।
इसके अलावा रेहड़ी-पटरी वालों को भी 100 रुपये प्रतिमाह का शुल्क देना पड़ सकता है। बड़े कमर्शल संस्थान जैसे होटल को ज्यादा ऊंची फीस चुकानी होगी। अधिकारी ने आगे बताया कि हमारे प्रतिनिधि हाउस कैटिगरी के हिसाब से रसीद जारी करेंगे। हम जनवरी 2020 से ही इन शुल्क को प्रभाव में लाने की योजना बना रहे हैं। उनके मुताबिक जो लोग कूड़ा उठवाने का शुल्क नहीं चुकाएंगे, सैनिटरी सुपरवाइजर्स उनका चालान काटेंगे।
एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि फरवरी 2018 में ही कोर्ट ने चार्ज खत्म करने की छूट खत्म कर दी थी। अधिकारी ने आगे बताया कि दिल्ली सरकार से किसी तरह की वित्तीय मदद नहीं मिल रही है, नगर निगम के पास अपने आंतरिक सोर्स के अलावा रेवेन्यू अर्जित करने का र्को और तरीका नहीं बचा है। कुछ इलाकों में कूड़ा उठवाने के लिए यूजर फी लेने का नोटिस पहले ही चस्पा किये जा चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »