स्वराज इंडिया ने डीडीए में फैले भ्रष्टाचार के खिलाफ भीख मांग प्रदर्शन निकाला

नई दिल्ली। स्वराज इंडिया ने डीडीए में फैले भ्रष्टाचार के खिलाफ पटेल नगर विधानसभा क्षेत्र में प्रेम नगर फाटक के नजदीक नेहरू नगर से ‘भीख मांग प्रदर्शन’ निकाला गया । इसमें सैकड़ों की संख्या में स्थानीय निवासियों ने हिस्सा लिया। अपने घर को बचाने के लिए बड़ी संख्या में महिलाओं ने मार्च में भागीदारी की। अपने आप में अनोखा प्रदर्शन रहा , जिसमें प्रदर्शनकारियों ने आम लोगों से कटोरा में भीख मांगते हुए मार्च निकाला। प्रदर्शनकारियों के प्रतिनिधि एसके चौबे ने बताया कि हमलोग इसलिए भीख मांग रहे हैं, ताकि डी डी ए के अधिकारीयों को रिश्वत दे सकें , क्योंकि वो हमसे लगातार रिश्वत की मांग करते हैं, जब हम उनकी मांग पूरी नहीं करते तो बिना किसी नोटिस के हमारे घरों बुलडोजर चला देते हैं। इस इलाके में अधिकतर लोग निम्न आय वर्ग के हैं, इसलिए डी डी ए के अधिकारीयों को रिश्वत नहीं दे पा रहे हैं। जबकि सुभाष नगर ज़ोन के पटवारी, कानूनगो सहित अधिकतर अधिकािरी रिश्वत की मांग करते हैं, नहीं देने पर मकान तोड़ने का धमकी देते हैं।
इसलिए हमलोग भीख जमा कर गृह मंत्रालय व शहरी विकास मंत्रालय को देने जा रहे हैं, ताकि मंत्री जी के माध्यम से डी डी ए के भ्रष्ट अधिकािरयों को उनके हिस्से का रिश्वत मिल जाए।
दिल्ली पुलिस ने गृह मंत्रालय पहुंचने से पहले मार्च को जबरन रोक दिया। प्रदर्शनकारियों की तरफ से प्रतिनधिमंडल ने गृह मत्रालय व शहरी विकास मंत्रालय जा कर ज्ञापन दिया। जिसमें निम्न मांग किए गए हैं:
1. डीडीए के गार्ड बलराम जाखड़ और कानूनगो के साथ पटवारी को तुरन्त बर्खास्त करते हुए उनकी सम्पत्ति की जांच हो।
2. डीडीए पहले कन्फर्म करे कि थाना आनन्द पर्वत के अंतर्गत पंजाबी बस्ती बलजीत नगर, प्रेम नगर और नेहरू नगर में उसकी जगह कहाँ कहां और कितनी है ।
3. प्रेम नगर, नेहरू नगर और पंजाबी बस्ती बलजीत नगर में जो भी लोग बसे है उनके मकान को तोड़ने से पहले उनको डीडीए मकान देकर विस्थापित करने के बाद ही किसी मकान को तोड़े।
प्रदर्शन में स्वराज इंडिया पार्टी के दिल्ली अध्यक्ष कर्नल जयवीर, महासचिव नवनीत तिवारी , विधानसभा अध्यक्ष पवन पांडे, वार्ड अध्यक्ष दिलीप गुप्ता , संजय पांडे, वी पी शुक्ल और विजय गोस्वामी सहित कई साथियों ने हिस्सा लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »