चौ. अनिल कुमार ने रोहिणी जिला कांग्रेस की नरेला विधानसभा का निरीक्षण किया

नई दिल्ली। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ. अनिल कुमार ने कांग्रेस की रसोई और दिल्ली कांग्रेस सेनीटाईजेशन महा अभियान का रोहिणी जिला कांग्रेस की नरेला विधानसभा और आदर्श नगर जिला कांग्रेस कमेटी के कई क्षेत्रों का निरीक्षण किया। चौ. अनिल कुमार ने कहा कि कांग्रेस की रसोई दिल्ली भर में लॉकडाउन के दौरान गरीब और जरुरतमंद लोगों को स्वस्थ एवं पौष्टिक खाना मुहैया करा रही है। उन्होंने कहा कि पूरी दिल्ली में कांग्रेस की रसोई लगभग 50 हजार गरीबों और जरुरतमंदों के लिए खाना बांट रही है और इसके साथ-साथ पिछले सप्ताह से प्रदेश कार्यालय राजीव भवन में भी कांग्रेस की रसोई शुरु की गई है राउज एवेन्यू के नजदीकी रहने वाले हजारों गरीब लोगों को दोपहर का खाना बांटा जा रहा है।
दिल्ली के क्षेत्रों में कांग्रेस की रसोई में प्रदेश अध्यक्ष चौ. अनिल कुमार के साथ पूर्व विधायक चरण सिंह कंडेरा, नरेला विधानसभा के प्रत्याशी सिद्धार्थ कुंडू, ब्लाक अध्यक्ष महेन्द्र खत्री, सुशांत मिश्रा, विशाल मान सहित सैंकड़ोंं कांग्रेस सैनिकों ने जरुरतमंदों को खाना वितरित किया।
चौ. अनिल कुमार ने कहा कि दिल्ली कांग्रेस ने कांग्रेस सेनीटाईजेशन महा अभियान की शुरुआत की है क्योंकि दिल्ली सरकार और दिल्ली नगर निगम दिल्ली में सेनीटाईजेशन अभियान को प्रभावी ढंग से चलाने में पूरी तरह विफल रहे हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार और एमसीडी की विफलता और अक्षमता के कारण दिल्ली में कोविड के मामले तेजी से बड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली कांग्रेस ने दिल्ली के 280 ब्लॉकों में प्रत्येक में चार सेनिटाईजेशन मशीनों को उनके क्षेत्रों के लिए दिया गया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पैदल सैनिक सभी आवश्यक एहतियाती कदम उठाने के साथ-साथ सरकार द्वारा निर्धारित सामाजिक दूरी को सुनिश्चित करने के बाद सेनिटाईजेशन अभियान चला रहे हैं।
चौ. अनिल कुमार ने नरेला बवाना रोड, पॉकेट बी-4, नरेला गाँव, अलीपुर गाँव, नया बाँस, नरेला, प्राचीन शनि मंदिर, केवल पार्क, आजाद पुर रोड नंबर-51 में कांग्रेस के रसोई और सेनिटाईजेशन महा अभियान का दौरा किया। प्रदेश अध्यक्ष चौ. अनिल कुमार जहां भी गए उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को निर्देश दिया कि वे गरीबों और जरूरतमंदों को स्वस्थ, पौष्टिक भोजन देने में कोई समझौता न करें और उन क्षेत्रों को सेनिटाईज भी करें जो दिल्ली सरकार और एमसीडी द्वारा पूरी तरह से उपेक्षित रखे गए हैं। चौ. अनिल कुमार ने कहा कि दिल्ली सरकार की मुफ्त भोजन योजना एक बड़ा घोटाला था क्योंकि गरीब लोगों को घटिया और अपर्याप्त मात्रा में भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है, हालांकि कागजों पर दिल्ली सरकार करदाताओं के करोड़ों रुपये पैसे खर्च कर रही है, जिसका सत्य जानकर सच्चाई को सामने लाने कोशिश करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »