नहीं दिख रही सोशल डिस्टेंसिंग, फिर गिर सकते हैं दुकानों के शटर

नई दिल्लीः राजधानी के बाजार पूरी तरह खुलने की घोषणा ने पुरानी दिल्ली के बाजारों में घबराहट पैदा कर दी है। वहां सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो रहा है, जिसके चलते बाजारों में दुकानदारों के कोविड से संक्रमित होने की घटनाएं बढ़ रही हैं। बीमारी के डर से बुधवार को लाजपत राय मार्केट को 7 जून तक बंद करने की घोषणा कर दी गई। कुछ और कारोबारी संगठन भी अपने बाजारों को बंद करने को लेकर इमरजेंसी बैठक करने जा रहे हैं। इसके अलावा अन्य बाजारों की मार्केट असोसिएशन भी बाजार बंद करने पर विचार कर रही हैं।
राजधानी के बाजार पहले ऑड-ईवन और उसके बाद पूरी तौर पर खोल दिए गए हैं। लेकिन पुरानी दिल्ली के बाजारों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन ना होने और दुकानदारों के कोरोना संक्रमित होने से बाजार बंद होना शुरू हो गए। इस कड़ी में सबसे पहले भागीरथ पैलेस की दवा मार्केट बंद की गई। लाजपत राय मार्केट के दुकानदारों ने भी अपना बाजार 7 जून तक बंद करने की घोषणा कर दी है। सोमवार को इस मार्केट के दो दुकानदार कोरोना पॉजिटिव मिले। बाजार के कारोबारी नेता रमेश बजाज के अनुसार इस परेशानी के चलते बाजार को बंद करने की घोषणा करनी पड़ी। वहीं कूंचा महाजनी के दुकानदारों ने अपने बाजार को 7 जून तक बंद करने की घोषणा की है।

मार्केट बंद करने को लेकर बुलाई बैठक
बाजारों में सोशल डिस्टेंसिंग ना होने और कोरोना का डर इतना है कि पुरानी दिल्ली के और दुकानदार भी अपने बाजारों को बंद करने पर जल्द निर्णय ले सकते हैं। भागीरथ पैलेस बिजली मार्केट के अध्यक्ष भारत आहूजा के अनुसार बाजार में खौफ बढ़ रहा है, इसके चलते हमने बैठक बुलाई है, जिसमें उसे बंद करने का निर्णय लिया जा सकता है। इसी तरह करोल बाग स्थित अजमल खां रोड के कारोबारी नेता दीपक मूलचंदानी के अनुसार हमने भी इसी मसले पर बैठक बुलाई है। उन्होंने कहा कि हमारे बाजार में कोरोना के डर से आधी दुकानें खुल नहीं रही हैं। इसलिए हम विचार करेंगे कि क्या बाजार को कुछ दिन के लिए पूरा ही बंद कर दिया जाए। यह निर्णय सर्वसम्मति से होगा। सूत्त्रो बाजारों में कोरोना की दहशत और बढ़ी तो पुरानी दिल्ली के और बाजारों में भी दोबारा से लॉकडाउन की शुरुआत हो सकती है। (साभार : नवभारत टाइम्स)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »