पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 29वीं पुण्यतिथि पर पुष्प चढ़ाकर श्रद्धाजंलि दी

नई दिल्ली। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ. अनिल कुमार ने प्रदेश कार्यालय राजीव भवन में पूर्व प्रधानमंत्री, भारत रत्न राजीव गांधी की 29वीं पुण्यतिथि पर उनकी तस्वीर पर फूल चढ़ाकर उन्हें श्रद्धाजंलि अर्पित की। चौ. अनिल कुमार ने कहा कि राजीव गांधी कम्प्यूटर, तकनीकी और संचार क्रांति के जनक थे, उनके आधुनिक दृष्टिकोण से ही भारत को प्रगति और विकास की राह मिली और युवाओं, असंख्य देशवासियों को रोजगार के नए अवसर मिले, गरीबों के कल्याण और उत्थान के लिए काम किया और उन्होंने देश की अखंडता और एकता के लिए अपने जीवन का बलिदान दिया।
चौ. अनिल कुमार ने कहा कि लॉकडाउन के बाद से ही प्रदेश कांग्रेस की राजधानी में 100 से ज्यादा कांग्रेस की रसोई चलाई जा रही है, जिन्हें राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर उन्हें समर्पित किया। लगभग 50 हजार गरीब और जरुरतमंद लोगां को प्रतिदिन भोजन बांटा जा रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की रसोई प्रदेश कार्यालय राजीव भवन में भी प्रतिदिन चलाई जा रही है, जहां गरीबों को खाना बांटा जा रहा है और आज गरीब लोगों को राशन का कच्चा सामान के पैकेट व महिलाओं को साड़ी और सूट भी बांटे गए। इस दौरान लॉकडाउन नियमों के अन्तर्गत सामाजिक दूरी का पूरा ख्याल रखा गया।
राजीव जी को पुष्पाजंलि अर्पित करते समय पर चौ. अनिल कुमार के साथ अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सुष्मिता देव, प्रदेश उपाध्यक्ष जय किशन, अभिषेक दत्त, मुदित अग्रवाल, प्रदेश पदाधिकारी, जिला अध्यक्ष एवं ब्लाक अध्यक्ष और कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद थे।
चौ. अनिल कुमार ने कहा कि यह राजीव जी की दूरदर्शिता, बुद्धिमत्ता और गतिशीलता ही थी जिससे भारत में कंप्यूटर युग की शुरुआत हुई और भारत में नौकरी के बाजार में एक स्थान मिला और भारत हर क्षेत्र में विकास करने के साथ.साथ आत्मनिर्भर देश बनने की ओर चल पड़ा। यह सब राजीव जी के प्रधानमंत्रीत्व काल में उनके द्वारा उठाए गए गतिशील और क्रांतिकारी कदमों के कारण ही हुआ था। उन्होंने कहा कि अगर भारत आज कोविड-19 महामारी का सामना करने में सक्षम है, तो यह राजीव जी द्वारा दुनिया भर में बदलती गतिशीलता के साथ देश को प्रगति और विकास पर रखने के लिए उठाए गए प्रगतिशील कदमों के कारण ही हुआ है।
चौ. अनिल कुमार ने कहा कि केंद्र में मोदी सरकार और दिल्ली में केजरीवाल सरकार दोनों ही कोविड महामारी से निपटने में पूरी तरह से विफल रहे हैं। उन्होंने कहा कि यदि श्रीमती इंदिरा गांधी और राजीव गांधी जीवित होते, तब स्थिति अलग होती। क्योंकि वे कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए हर मोर्चे पर आगे निकल कर जनता को बचाते। क्योंकि उनके पास चुनौतियों का बहादुरी से सामना करने के बहुत रिकॉर्ड थे।
चौ. अनिल चौधरी और जयकिशन ने कहा कि कोविड-19 महामारी लॉकडाउन के कारण लोग अत्यधिक कठिन दौर गुजर रहे हैं और कांग्रेस कार्यकर्ता हर संभव तरीके से गरीबों की मदद करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं, जिसमें मुफ्त भोजन, मास्क की आपूर्ति, सैनिटाइजर और पैड आदि मुहैया कराना, प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्यों में भेजने के लिए परिवहन और भोजन की व्यवस्था करना शामिल हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की लोगों की मदद करने की अपनी पुरानी परंपरा है, जब भी लोगों को मुश्किल और दुर्गम परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है, कांग्रेस पार्टी लोगों की हर संभव मदद करती है और कोविड-19 महामारी के संकट के समय कांग्रेस पार्टी एक बार फिर जरूरतमंद और असहाय लोगों की मदद करने के लिए तत्पर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »